Boxing Day 2023 [Hindi]:क्यों मनाया जाता है बॉक्सिंग डे, क्या है इसका इतिहास और महत्व

Boxing Day 2022 [Hindi] Test, History, Importance, Facts
Spread the love

Boxing Day 2023 [Hindi]: दुनियाभर के ज्यादातर देशों में आज बॉक्सिंग डे मनाया जा रहा है। यह दिन पश्चिमी देशों खास तौर पर यूके में मनाया जाता है। हर साल क्रिसमस यानी 25 दिसंबर को अगले दिन 26 दिसंबर को बॉक्सिंग डे के रूप में मनाया जाता है। इसके नाम को सुन अगर आप इसे बॉक्सिंग के खेल से जोड़कर देख रहे हैं, तो हम बता दें कि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। बॉक्सिंग डे का बॉक्सिंग से कोई संबंध नहीं है।

क्या है बॉक्सिंग डे

Boxing Day 2023: इस दिन का दूर-दूर तक किसी भी खेल से कोई संबंध नहीं है। दरअसल, इस दिन की शुरुआत जरूरतमंदों को दान देने से रिवाज से हुई थी। पुराने समय में लोग गरीबों को इस दिन बॉक्स भरकर उपहार देते थे। हालांकि, बदलते समय के साथ इस दिन को मनाने का मकसद भी काफी बदल चुका है। हर साल क्रिसमस के अगले दिन मनाए जाने वाले इस खास मौके पर लोग अपने परिवार के साथ समय बिताते हैं। छुट्टी का दिन होने की वजह से लोग इस दिन परिवार के साथ शॉपिंग करने जाते हैं।

बॉक्सिंग डे मनाने का उद्देश्य (Boxing Day Aim in Hindi)

बीते कई साल से मनाए जा रहे इस दिन का मकसद परिवार के साथ समय बिताना है। इस दिन यूके और आयरलैंड में सरकारी छुट्टी होती है। पहले के समय में लोग इस दिन पर अपने नौकरों को तोहफा देते थे और उन्हें क्रिसमस के अगले दिन छुट्टी देते थे, ताकि वह अपने परिवार के साथ समय बिता सकें। वर्तमान में यूरोप के कई देशों जैसे जर्मनी, हंगरी, नीदरलैंड और पोलैंड में इस दिन को दूसरे क्रिसमस डे के रूप में मनाया जाता है।

Boxing Day Test होता क्या है?

बॉक्सिंग-डे (Boxing Day 2023) और ये नाम आया कहां से है, इसे लेकर कुछ कहानियां हैं. एक कहानी के मुताबिक चर्च में रखे बॉक्सेस को क्रिसमस के अगले दिन खोला जाता है इसलिए इस दिन को बॉक्सिंग डे कहते है. वहीं दूसरी कहानी ये है कि क्रिसमस वाले दिन जो लोग बिना छुट्टी लिए काम करते हैं, उन्हें अगले दिन बॉक्स के रूप में गिफ्ट दिया जाता है और साथ ही उन्हें परिवार के साथ समय बिताने के लिए इस दिन छुट्टी दी जाती है. इसलिए इसे बॉक्सिंग-डे कहते हैं. साफ है कि बॉक्सिंग डे को लेकर अलग-अलग धारणाएं हैं.

Boxing Day Test का इतिहास (History)

बॉक्सिंग-डे टेस्ट मैच की शुरुआत 1950 से हुई थी. शुरुआत में हालांकि इसे हर साल इसे नहीं खेला जाता था. टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच पहला बॉक्सिंग डेखेला गया था जिसमें ऑस्ट्रेलिया ने जीत दर्ज की थी. 1952 में साउथ अफ्रीका ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ही अपना पहला बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच खेला था . इस मैच में साउथ अफ्रीका ने जीत हासिल की थी. फिर 1968 में बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच खेला गया था. 1980 वो साल बना जबसे इसे हर साल खेलने की परंपरा शुरू हुई. तब से ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, साउथ अफ्रीका की टीमें लगातार बॉक्सिंग-डे टेस्ट मैच खेल रही हैं. टीम इंडिया भी गाहे बेगाहे बॉक्सिंग डे टेस्ट का हिस्सा बनती है.

Also Read: Why National Sports Day is Celebrated- Theme of National Sports Day

Boxing Day 2023: बॉक्सिंग डे पर क्या किया जाता है

इस दिन लोग फुटबॉल मैच देखने जाते हैं। यूके में यह काफी पुराना ट्रेडिशन है। वहीं, जो लोग इस दिन मैच देखने नहीं जाते हैं, वह अक्सर शॉपिंग करते हैं, क्योंकि इस खास मौके पर कई कंपनियां लोगों को काफी सारे ऑफर देती हैं। वहीं, कुछ लोग इस दिन क्रिसमस पर बनाए ढेर सारे खाने को खत्म करते हैं। इस दिन का नाम बॉक्सिंग डे क्रिसमस बॉक्स के आधार पर पड़ा है। इसके तहत जरूरतमंदों को पैसे, खाना और उपहार देने का काम किया जाता है।

■ Also Read: Commonwealth Games | भारत ने जीते 61 मेडल जिनमें 22 गोल्ड मेडल, दिखा खेलों का उत्कृष्ट प्रदर्शन

Boxing Day 2023 Test Day: क्यों मनाया जाता है बॉक्सिंग डे

बॉक्सिंग डे (Boxing Day 2023) को कई सालों से मनाया जा रहा है इस दिन यूके और आयरलैंड में सरकारी छुट्टी होती है। क्रिसमस के अगले दिन लोग अपने परिवार के के साथ समय बिताते हैं। इस दिन यूके में नौकरों को मालिक गिफ्ट देते हैं और नौकर अपने परिवार के साथ खुशियां और गिफ्ट बांटते हैं। यूरोप के कई देशों जैसे जर्मनी, हंगरी, नीदरलैंड और पोलैंड में इस दिन को सेकंड क्रिसमस डे के रूप में मनाया जाता है।

बॉक्सिंग डे टेस्ट से जुड़े रोचक तथ्य (Facts in Hindi)

  • वर्ष 1994 में इंग्लैंड के खिलाफ शेन वॉर्न ने बॉक्सिंग डे टेस्ट में ही हैट्रिक ली थी और वर्ष 2006 में उन्होंने अपने 700 टेस्ट विकेट भी बॉक्सिंग डे टेस्ट में ही पूरे किए थे, और अपने होम ग्राउंड पर आखिरी मैच को यादगार बना दिया था.
  • वर्ष 1995 में अंपायर डैरेल हेयर ने श्रीलंकाई ऑफ-स्पिनर मुथैया मुरलीधरन को ‘चकर’ घोषित किया था. हेयर ने मुरली के तीन ओवर में उन्हें सात बार ‘नो बॉल’ करार दिया था.
  • वर्ष 1999 में सचिन तेंदुलकर ने 166 रनों की शानदार पारी खेली थी. दूसरी पारी में मास्टर ब्लास्टर ने 52 रन बनाए थे, लेकिन ऑस्ट्रेलियाई टीम मैच जीतने में कामयाब रही थी.
  • बॉक्सिंग डे पर अब तक 43 टेस्ट मैच खेले जा चुके हैं जिनमें से ऑस्ट्रेलिया ने 24 टेस्ट मैच जीते हैं.
  • वर्ष 2018 में भारतीय टीम बॉक्सिंग डे पर मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर 8 वां टेस्ट मैच खेल रही है. ज्ञातव्य है कि भारत ने कभी भी बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच नहीं जीता है. भारत अपना अगला बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच 2020 में खेलेगा.

इस प्रकार स्पष्ट है कि भारत बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच का सम्बन्ध किसी बॉक्सिंग मैच से नहीं बल्कि ऑस्ट्रेलिया में मेलबोर्न क्रिकेट ग्राउंड पर खेले जाने वाले क्रिकेट टेस्ट मैच को कहा जाता है.


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.